Govt. of Madhya Pradesh

Pravinya Scholarship in Madhya Pradesh/मध्य प्रदेश में प्रावीण्य छात्रवृत्ति

Pravinya Scholarship launched by Government of Madhya Pradesh (Tribal Welfare Department). The main objective behind introducing this scheme is to encourage tribal students to achieve good ranks in academics and perform well. Under this scheme, tribal students are benefits as financial assistance like Up to secondary level: Rs. 40 per month and Up to high school level: Rs. 50 per month. All tribal student residence of Madhya Pradesh state is eligible under this scheme. The candidate who willing to get the benefit of this Scheme should apply to Nearest Tribal Welfare Department.

Benefits of Pravinya Scholarship in Madhya Pradesh:

  • Pravinya Scholarship helps the farmer in the form of financial assistance. Benefits are mentioned below
  • Up to secondary level: Rs. 40 per month
  • Up to high school level: Rs. 50 per month
  • Scholarship amount will be directly transferred to beneficiary’s account
  • Note: Amount may vary

Required eligibility and conditions applying for Pravinya Scholarship:

  1. All tribal student residence of Madhya Pradesh state is eligible under this scheme
  2. No restriction of annual income

Document required applying for Pravinya Scholarship:

  1. Residence proof
  2. Bank details e.g. IFSC Code, MICR code, branch name, account number
  3. Identity proof: Aadhar card
  4. BPL ration card (if available)
  5. Income certificate
  6. Caste certificate

Application procedure:

  1. This scheme is implemented by Tribal Welfare Department. Student who willing to get benefits of this scheme should apply to Nearest Tribal Welfare Department

Contact Details:

  1. Nearest Tribal Welfare Department
  2. Collector, Assistant Commissioner / District Coordinator

References & details:

  1. For more details regarding documents and other help please visit official website
  2. Official Website: http://www.mp.gov.in/web/tribal/meritscholarships

 

 

मध्य प्रदेश में प्रावीण्य छात्रवृत्ति

मध्यप्रदेश सरकार (आदिवासी कल्याण विभाग) द्वारा प्रावीण्य छात्रवृत्ति का शुभारंभ किया गया । इस योजना को शुरू करने के पीछे मुख्य उद्देश्य अनुसूचित जनजाति के प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को आर्थिक सहायता देकर अधिकतम प्रावीण्यता अर्जित करने हेतु प्रोत्साहित करना हैं। । इस योजना के तहत आदिवासी छात्रों को माध्यमिक स्तर तक की वित्तीय सहायता के रूप में लाभ हैं: रु। 40 प्रति माह और उच्च विद्यालय स्तर तक: रु। प्रति माह 50 मध्य प्रदेश राज्य के सभी निवासी अनुसूचित जनजाति छात्र इस योजना के अंतर्गत योग्य हैं। उम्मीदवार जो इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं, वह निकटतम आदिवासी कल्याण विभाग को आवेदन करना चाहिए।

मध्यप्रदेश में प्रावीण्य छात्रवृत्ति के लाभ:

  • प्रावीण्य छात्रवृत्ति वित्तीय सहायता करती है। लाभ नीचे दिए गए हैं
  • माध्यमिक स्तर तक: रु। 40 प्रति माह
  • उच्च विद्यालय स्तर तक: रु। प्रति माह 50
  • छात्रवृत्ति राशि को सीधे लाभार्थी के खाते में जमा किया जाएगा
  • नोट: राशि भिन्न हो सकती है

प्रावीण्य छात्रवृत्ति लागू करने के लिए आवश्यक पात्रता और शर्तें:

  1. मध्य प्रदेश राज्य के सभी निवासी अनुसूचित जनजाति छात्र इस योजना के पात्र योग्य हैं
  2. वार्षिक आय का कोई प्रतिबंध नहीं

प्रावीण्य छात्रवृत्ति लागू करने के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  1. निवास प्रमाण
  2. बैंक विवरण उदा। आईएफएससी कोड, एमआईसीआर कोड, शाखा का नाम, खाता संख्या
  3. पहचान प्रमाण: आधार कार्ड
  4. बीपीएल राशन कार्ड (यदि उपलब्ध हो)
  5. आय प्रमाण पत्र
  6. जाति प्रमाण पत्र

आवेदन की प्रक्रिया:

  1. यह योजना आदिवासी कल्याण विभाग द्वारा लागू की गई है। इस योजना के लाभ पाने के इच्छुक छात्र निकटतम आदिवासी कल्याण विभाग के लिए आवेदन कर सकते हैं

संपर्क विवरण:

  1. निकटतम आदिवासी कल्याण विभाग
  2. कलेक्टर, सहायक आयुक्त / जिला समन्वयक

संदर्भ और विवरण:

  1. दस्तावेजों और अन्य सहायता के बारे में अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं
  2. आधिकारिक वेबसाइट: http://www.mp.gov.in/web/tribal/meritscholarships
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top