Govt. of India

Shala Asmita Yojana (SAY)

The Union Ministry of Human Resource Development (HRD) has launched Shala Asmita Yojana, a student educational tracking system programme. ASMITA stands for All School Monitoring and Individual Tracking Analysis. In this scheme government has aim to track the entire education journey of students. The scheme will cover 25 crore students studying in all government and private schools from 1 to 12 class, which probably makes it world’s largest student tracking system. Each student will be identified by his/her Aadhaar number in the system and those who don’t have Aadhaar will be issued a Unique Identity Number (UIN). Since 65% students aged between 5 and 18 have got Aadhaar cards, it can be assumed safely that majority of students will be identified with their Aadhaar numbers. The system will consist of an online database that’ll compile the entire educational journey of all students including their percentages, attendance, infrastructural facilities and even their mid day meal consumption.  Based on that data government will provide special assistance and facilities to the students. The data of the students will be manually entered into the online tracking system by the local authorities of each state. The tracking system is also helps to track leakage and corruption in mid-day meals

Benefits of Shala Asmita Yojana:

  • Benefits of tracking the entire educational journey of all students
  • Benefits of tracking Students percentages, attendance, infrastructural facilities and even their mid day meal consumption to improve in education system
  • It will also help identify dropouts
  • The system also help in tracking and control mid­day meal corruption

Features of Shala Asmita Yojana:

  1. The scheme is basically a tracking system for over 25 Crore students from class 1st to 12th
  2. Shala Asmita Yojana aims to track the educational journey of school students from Class I to Class XII across the 15 lakhs private and government schools in the country
  3. ASMITA will be an online database which will carry information of student attendance and enrolment, learning outcomes, mid-day meal service and infrastructural facilities
  4. Students will be tracked through their Aadhaar numbers and incase those not having unique number will be provided with it

Implementation of Shala Asmita Yojana:

  1. Shala Asmita Yojana implemented in all government and private schools from 1 to 12 class
  2. This scheme is implemented in majority of states by local authority

References & details:

  1. For more details about Shala Asmita Yojana (SAY): http://mhrd.gov.in

 

शाला अस्मिता योजना

शाला अस्मिता योजना मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआरडी)  ने शुरू कि है। यह एक छात्र शैक्षिक ट्रैकिंग प्रणाली कार्यक्रम है । अस्मिता योजना सभी स्कूल  की निगरानी और व्यक्तिगत ट्रैकिंग विश्लेषण के लिए बनाई गई है।  इस योजना के अंतर्गत सरकार स्कूली छात्रों की संपूर्ण शिक्षा यात्रा को ट्रैक करने का उद्देश्य है। यह योजना 1 से 12 वर्ग की छात्राओ के लिए है, जो शायद दुनिया का सबसे बड़ा छात्र ट्रैकिंग सिस्टम है।  सभी सरकारी और निजी स्कूलों में पढ़ने वाले 25 करोड़ छात्रों को कवर किया जाएगा। प्रत्येक छात्र की आधार संख्या के द्वारा पहचान की जाएगी। जिन छात्रों के पास आधार कार्ड नहीं है,  उन छात्रों को आधार कार्ड दिया जायेगा। ये योजना छात्रों के ड्रॉपआउट होने जैसी परिस्थितियों का भी पता लगाएगी. इस स्कीम का नाम ‘शाला अस्मिता योजना’ रखा जाएगा।

शाला अस्मिता योजना का लाभ:

  • सभी छात्रों के संपूर्ण शैक्षिक यात्रा पर नज़र रखी जायेगी
  • छात्रों के प्रतिशत, उपस्थिति, ढांचागत सुविधाओं और यहां तक ​​कि उनके मध्याह्न भोजन की खपत पर नज़र रखकर शिक्षा प्रणाली में सुधार करने के लिए इस योजना का उपयोग होगा
  • इस योजना से शिक्षा  छोड़ने वाले बच्चों की पहचान में मदद मिलेगी
  • इस प्रणाली द्वारा नज़र रखकर भोजन भ्रष्टाचार पर नियंत्रण रखा जायेगा

शाला अस्मिता योजना की विशेषताएं:

  1. यह योजना मूल रूप से पहली से लेकर 12 वीं मैं पढने वाले छात्रों के लिए है। इस योजना के अंतगर्त 25 करोड़ से अधिक छात्रों के लिए एक ट्रैकिंग प्रणाली है
  2. शाला अस्मिता योजना 5 लाख निजी और सरकारी स्कूलों मैं छात्राओ को ट्रैक करने के लिए बनाई गयी है
  3. अस्मिता एक ऑनलाइन डेटाबेस है जो छात्र उपस्थिति और नामांकन, सीखने के परिणामों, मिड-डे मील सेवा और ढांचागत सुविधाओं की जानकारी ली जाएगी
  4. छात्रों पर आधार नंबर के माध्यम से नज़र रखी जाएगी

शाला अस्मिता योजना का कार्यान्वयन:

  1. शाला अस्मिता योजना 1 से 12 वर्ग के लिए सभी सरकारी और निजी स्कूलों में लागू होगी
  2. यह योजना स्थानीय प्राधिकारी द्वारा राज्यों मैं कार्यान्वित कि जाएगी

सन्दर्भ और विवरण:

  1. शाला अस्मिता योजना के बारे में अधिक विवरण के लिए: http://mhrd.gov.in

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

NekiKiDeewar.in

Most Popular

To Top